AI kya hai in hindi? क्या यह मानव को replace करेगा?

ai kya hai in hindi

AI kya hai? AI एक technology या सिस्टम है, ऐसा कोई भी सॉफ्टवेयर या सिस्टम जो मानव की तरह कार्य करने की क्षमता रखता है, उसे artificial intelligence कहा जाता है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का निर्माण मानव के मस्तिष्क तथा कार्यों के प्रेरित होकर हुआ है। इसका उद्देश्य ये है कि ऐसी मशीन या सॉफ्टवेयर का निर्माण करना जो मनुष्य की तरह ही कार्य करने तथा निर्णय लेने में सक्षम हो।

AI बनाने के लिए कई programming languages की जरूरत पड़ती है जैसे – Python, R, या Java जैसी भाषाओं का उपयोग किया जाता है और कई मशीन लर्निंग libraries का उपयोग होता है – स्किकिट-लर्न, TensorFlow और PyTorch जैसी libraries. और साथ ही mathematical concepts and domain-specific knowledge की भी जरूरत पड़ती है।

“आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस  को यह नाम John McCarthy  ने 1956 मैं दिया”

इन्हीं प्रोग्रामिंग languages की वजह से AI का इस्तेमाल hardware में होता है।

आज के समय में AI का नाम हर जगह प्रचलित है, हर कोई आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को यूज कर रहा है, तथा इसके इस्तेमाल से अपने कामों को आसान बना रहा है।

आज के युग में जितने भी मशीनें बन रही हैं, उन सभी में AI का इस्तेमाल होता है, इसके इस्तेमाल से वो मशीनें और बेहतर और अधिक कुशलता से काम करती हैं।

History of artificial intelligence in hindi (history of ai in hindi)  – 

आशा होगी की आपको AI kya hota hai?  इसके बारे मैं  पता चल गया होगा! इसे जानने बाद अब मैं आपको आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की history बताऊंगा की AI की शुरुवात कैसे हुई?

History of AI in hindi
History of AI in hindi
  • 1950 Turing Test: अगर history की बात की जाए तो AI पर 1950 में पहला परीक्षण किया गया। Alan Turing के जरिए यह परीक्षण किया गया कि मशीन असल में सोच पाती है या नहीं, और यह टेस्ट पास हुआ। इस टेस्ट में पता चला कि हम मनुष्य की तरह ही मशीन सोच सकती है। इस टेस्ट को Turing Test के नाम से जाना गया।
  • 1955 A.I. Born: 1955 एक ऐसा युग था जब artificial intelligence का नामकरण हुआ। AI को यह नाम American computer scientist John McCarthy ने दिया।
  • 1961 Robot: 1961 में पहला industrial robot को काम में लाया गया। इस रोबोट को General Motors assembly line में पहली बार 1961 में काम में लगाया गया।
  • 1961 First Chatbot: इस वर्ष में पहला chatbot introduced किया गया। जिसे Joseph Weizenbaum ने 1961 में introduced किया जिसे ELIZA नाम से जाना गया।
  • 1997 Deep Blue: IBM के जरिए 1997 में Deep Blue computer या system बनाया गया। जो विशेष रूप से chess playing के लिए बनाया गया। और इस system या computer ने world champion Garry Kasparov को हराया।
  • 1999 AIBO: 1999 में Sony ने अपना एक consumer robot कुत्ता लांच किया जिसे AIBO के नाम से जाना गया। यह AIBO एक रोबोटिक कुत्ता था, जिससे AI का क्रांति आई।
  • 2011 Siri: 2011 में Apple ने अपना virtual assistant लांच किया जिसे Siri के नाम से जाना गया।
  • 2014 Alexa: इसी AI क्रांति के चलते Amazon ने अपना voice assistant लॉन्च किया, जिसे Alexa के नाम से जाना गया।

  • 2017 AlphaGo: AlphaGo जो एक कंप्यूटर प्रोग्राम है, जिसे Google की अधिग्रहीत सहायक कंपनी DeepMind ने बनाया था। यह प्रोग्राम Go game के लिए विशेष रूप से बनाया गया था, इस प्रोग्राम ने जब 2017 में वर्ल्ड चैंपियन Ke Jie को Go game में हराया था, इस सफलता के बाद भी AI के प्रचलन में फर्क पड़ा क्योंकि यह प्रोग्राम पूरी तरह से machine learning और Deep Learning पर कार्यरत था।
  • 30 November 2022: 2022 में 30 नवंबर को AI में एक नया क्रांति आया। जिसे ChatGPT के नाम से जाना गया, यह एक AI chatbot है, जिसे OpenAI ने लॉन्च किया था। AI के इतिहास में सबसे बड़ा क्रांति इसी ChatGPT के कारण आया है। जब से ChatGPT लॉन्च हुआ तब से AI को एक नई ऊंचाई मिली, और वह ऊंचाई आज आप देख सकते हैं।

AI kaise kam karta hai ( How ai works in hindi ) –

AI को काम करने के लिए बहुत सारे डाटा की जरूरत पड़ती है, बिना किसी भी डाटा के AI काम नहीं कर सकता। यह विभिन्न तकनीकों का प्रयोग करके काम करता है जैसे –

  • मशीन लर्निंग:

यह एआई का सबसे महत्वपूर्ण टर्म या आस्पेक्ट है। मशीन लर्निंग एल्गोरिदम डाटा के आधार पर काम करते हैं, समय के साथ बेहतर प्रदर्शन करते हैं। ये डेटासेट से पैटर्न और डाटा से संबंध को पहचानने का काम करते हैं, जिसके आधार पर ये निर्णय लेते हैं।

  • न्यूरल नेटवर्क:

यह एक मशीन लर्निंग मॉडल है, जिसे मानव मस्तिष्क से प्रेरित होकर बनाया गया है। हमारे दिमाग में जो न्यूरॉन्स होते हैं, उसी तरह का काम करने के लिए इस मॉडल को बनाया गया है।

इस मॉडल का उपयोग हम विभिन्न तरीकों से कर सकते हैं – इमेज रिकग्निशन, लैंग्वेज रिकग्निशन तथा लैंग्वेज ट्रांसलेशन इत्यादि।

  • डीप लर्निंग:

यह मशीन लर्निंग का एक प्रकार है जो न्यूरल नेटवर्क का उपयोग करता है। ये एल्गोरिदम डाटा से जटिल पैटर्न और संबंध को पहचान सकते हैं, इस मॉडल के कारण AI को अत्यधिक सटीक भविष्यवाणियां करने की क्षमता मिलती है।

  • डेटा:

AI किस तरह से काम करेगा उसके लिए आपके पास अधिक से अधिक मात्रा में डाटा होना चाहिए, अगर डाटा अधिक है तो इसी डाटा के आधार पर वह सटीक प्रतिक्रिया और सटीक उत्तर देगा।

Ai के प्रकार  (types of artificial intelligence in hindi) – 

types of ai in hindi, narrow ai,  artificial general intelligence, artificial super intelligence
Types Of AI in Hindi

AI के टाइप्स को समझने से पहले हमें यह जानने की जरूरत है कि किन कारणों की वजह से AI को विभाजित किया गया है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को उनकी क्षमताओं और फंक्शनलिटीज के आधार पर उनके टाइप्स में विभाजित किया गया है। कई लोगों में confusion बना रहता है कि AI के टाइप्स का मतलब क्या है, इसका सीधा मतलब है कि जिन मॉडल्स की क्षमताएँ और फंक्शनलिटीज मजबूत और अनूठी होंगी उन्हें एक अलग टाइप में विभाजित किया गया है।

अब मैं आपको AI के 3 टाइप्स के बारे में बताऊंगा, कि कौन से AI टाइप्स में क्या-क्या क्षमताएँ हैं –

  • NARROW AI:

NARROW AI, जिसे artificial narrow intelligence (ANI) के नाम से भी जाना जाता है। यह विशिष्ट इंटेलिजेंस है। जो विशिष्ट कामों को ही कर पाता है। इसे कई लोग weak AI के नाम से भी जानते हैं।

NARROW AI जो natural language processing (NLP) का उपयोग करता है, समस्याओं को समझने और सुलझाने के लिए। NARROW AI कई तरह के कामों को अंजाम दे सकता है जैसे –

  • Speech recognition
  • Image recognition
  • Self-driving cars
  • AI virtual assistants (जैसे – Siri, Alexa, and Google Assistant आदि।)
  • ARTIFICIAL GENERAL INTELLIGENCE (AGI):

AGI, जिसका पूरा नाम ARTIFICIAL GENERAL INTELLIGENCE होता है। इस AI मॉडल को Deep AI/Strong AI के नाम से भी जाना जाता है। यह AI मानव जितनी क्षमताएँ रखने की क्षमता और जो कार्य मानव कर सकता है उसे ये कर सकते हैं। लेकिन अभी भी यह प्रगति में है अभी भी कुछ चीजें ऐसी हैं जिसे सिर्फ मानव कर सकता है।

AGI के उदाहरण –

  • Chatbots
  • Generative AI
  • ARTIFICIAL SUPERINTELLIGENCE (ASI):

ASI, जो पूरी तरह से एक सैद्धांतिक अवधारणा है। यह AI का सबसे उत्कृष्ट मॉडल है, जिसे SUPERINTELLIGENCE भी कहते हैं। यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मानव की क्षमताओं के परे है। इस AI मॉडल का काम, जो कार्य मानव नहीं कर सकते उसे करना है। चाहे वह मानव की सोचने की क्षमता हो या मानव की निर्णय लेने की कौशल, इन सब के परे कामों को करना इस सुपर इंटेलिजेंस का काम है।

अब AI ने ARTIFICIAL GENERAL INTELLIGENCE को पूरी तरह से हासिल कर लिया है, इसलिए वह अपने अगले कदम पर काम कर रहा है, जिसे ARTIFICIAL SUPERINTELLIGENCE कहते हैं।

Advantages and Disadvantages of Artificial Intelligence [AI] in Hindi (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस [एआई] के फायदे और नुकसान?) –

अगर AI के फायदों की बात करें तो आज के समय में हर कोई व्यक्ति अलग-अलग रूप में AI के फायदों को ले रहा है।

Artificial Intelligence ke fayde? (Benefits of AI in hindi?)

  • Automation- 

Automation एक ऐसा काम है जिसमें AI का सबसे ज्यादा उपयोग होता है, इसमें जितने भी ऑटोमेशन वाले काम होते हैं वो शामिल हैं जैसे – WhatsApp automation, repeated work, email marketing automation, इत्यादि।

  • 24/7 availability-

AI के आने के बाद customer service में काफी सुधार आया है, जितनी भी बड़ी companies हैं, अब आपको उनमें AI का उपयोग करके 24*7 customer service दी जाएगी, वो भी without human के।

  • Eliminates human error and risk-

AI के उपयोग करके हम human से होने वाले error को ठीक कर सकते हैं, तथा human के जरिए जो भी risk होते हैं, उसकी अपेक्षा AI के द्वारा किए गए कामों में risk की संभावना कम होती है। क्योंकि AI उतना ही काम करता है, जितना उसे बताया जाता है, जिसके कारण risk तथा error की संभावना कम रहती है।

  • AI Benefits of the Medical Field-

अगर AI के फायदों की बात मेडिकल फील्ड में करें तो इस फील्ड में भी AI काफी हद तक मददगार है। इसके मेडिकल फील्ड में कई उपयोग हैं – Detecting cancer के लिए, Lifestyle and health monitoring के लिए, Drug discovery के लिए, तथा अन्य तरीकों से भी AI का उपयोग मेडिकल के फील्ड में हो रहा है।

  • Transportation

Transport में भी AI टेक्नोलॉजी का उपयोग हो रहा है। Self-driving cars में AI का उपयोग करके माल को एक जगह से दूसरी जगह एक्सपोर्ट करना, और ट्रांसपोर्ट में माल गाड़ियों में से सामान उतारना तथा सामान को सही जगह पहुंचाना आदि कामों में AI का उपयोग हो रहा है।

  • AI use in AR & VR technology

ऑगमेंटेड रियलिटी & वर्चुअल रियलिटी तो आप सभी को पता ही होगा कि क्या होती है, जैसे-जैसे ये टेक्नोलॉजी आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे ये टेक्नोलॉजी अडवांस्ड होती जा रही है। China and the United States जैसे देशों में AR & VR टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल सबसे ज्यादा होता है।

और आज के समय में जो भी VR headset बन रहे हैं उसमें AI का उपयोग हो रहा है – जैसे आप इस वीडियो में देख सकते हैं –

Artificial Intelligence ke nuksan in hindi? ( Disadvantage of AI in hindi?)

  • Job displacement –

AI के आने के बाद कई लोगों को अपने जॉब से हाथ धोना पड़ा है, और अभी भी इसका असर जारी है। इसका सबसे ज्यादा असर डेटा एंट्री वाले जॉब्स में पड़ा है, ऐसे सभी काम जिन्हें एक ऑटोमेशन की तरह किया जाता है, उन कामों में अब AI का उपयोग हो रहा है।

  • Security risk –

AI के आने के कारण सिक्योरिटी रिस्क काफी बढ़ गए हैं। खासकर जो भी डेटा आपका इंटरनेट पर है, वह डेटा AI के मदद से हैक हो सकता है। इसका सबसे ज्यादा असर – वेबसाइट हैकिंग, ऑनलाइन सॉफ्टवेयर हैकिंग, ईमेल हैकिंग, इत्यादि चीजों में ही रहा है।

  • Human laziness

AI के आने के कारण ह्यूमन में जो आलस्य आया है, उसे आप देख सकते हैं। सभी चीजों में AI-generated machines का उपयोग हो रहा है, और AI-generated robots का इस्तेमाल भी समय के साथ-साथ बढ़ रहा है।

Ai और ML में क्या अंतर है? (ai vs ml in hindi) – 

अगर AI और ML में अंतर की बात करें तो, Artificial intelligence का एक हिस्सा Machine Learning होता है। AI के अंदर ही ML आता है। मतलब यह कि ML, AI का एक उपसमूह है।

AI एक Rule-based system है, जिसमें सभी चीजें तय रहती हैं, कि किस प्रश्न पर कौन सा उत्तर जाएगा। लेकिन मशीन लर्निंग डेटा के आधार पर प्रेडिक्शन कर सकती है।

अगर इन दोनों में अंतर की बात करें तो, AI उसको दिए गए डेटा के आधार पर अपना कार्य करता है, और AI को सही निर्देश देने पड़ते हैं, कि क्या-क्या करना है। और ML को जो कार्य दिया जाता है, उसमें डेटा की जरूरत पड़ती है, लेकिन निर्देशों की नहीं। वह खुद समस्या को सुलझाता है।

जैसे –

अगर आपको AI के जरिए चाय बनानी है, तो आपको AI को बताना पड़ेगा कि चाय बनाने की प्रक्रिया क्या है, जैसे पहले पानी को गर्म करें, फिर उसमें चायपत्ती डालें, फिर उसमें दूध और चीनी!

अगर यही चाय आपको ML के जरिए बनानी है तो आपको ML को बताने की जरूरत नहीं है कि चाय बनाने की प्रक्रिया क्या है, Machine Learning खुद उस चाय बनाने की प्रक्रिया को सीखेगा और आपको चाय बनाकर देगा।

“यह सिर्फ एक उदाहरण के लिए दिया गया उदाहरण है।”

AI kaise sikhe (how to learn ai in hindi) –

AI कैसे सीखें? यह आज के समय का सबसे popular question है, क्योंकि हर कोई आजकल AI का उपयोग कर रहा है, तो अधिकांश लोग यह सोचते हैं कि इस AI को सीखें कैसे?

आज मैं आपको proper way बताऊंगा, beginner to advanced level तक AI को कैसे सीखें?

  • Understand the Basics of AI

अगर आपको AI को starting से सीखना है, तो सबसे पहले आपको AI के basics को समझना होगा।

AI के basic key concepts को समझें जैसे – Machine Learning, Deep Learning, Neural Networks, और AI के tools को जानें!

दूसरी चीज, आपको AI के basics में Mathematics को clear करना होगा। जैसे- Calculus, Linear Algebra, और Statistics आदि को समझना होगा।

  • Learn Programming Languages

दूसरा स्टेप है, Programming Languages का। अगर आपको AI सीखना है तो इसके लिए आपको Programming Languages सीखना बहुत जरूरी है।

इन Programming Languages में Python सबसे most important language बन जाती है, AI के अधिकतर projects Python के जरिए ही बनाए जाते हैं। इसमें और languages शामिल हैं जैसे – Java or C++.

  • Learn from YouTube & Blogs & Online Courses –

AI सीखने के लिए आपको थोड़ा active होना पड़ेगा, यहां भी आपको AI की knowledge मिल रही है, वहां से पढ़ लें, YouTube में कई सारे ऐसे channels हैं जो AI Projects बनाते हैं, उनसे आप सीख सकते हैं, Google में कई सारे blogs में AI की जानकारी starting से advanced तक दी गई है, और Online Courses के जरिए भी आप AI को सीख सकते हैं, जिसमें Coursera सबसे बेस्ट प्लेटफॉर्म है।

अगर आपको AI में अपने आप को जमाना है, तो आपको continuously काम करना पड़ेगा और UP to date रहना पड़ेगा।

Best online course, best website, best books for AI learning –

आज मैं आपको ये बताऊंगा कि AI को सीखने के लिए आपके पास कौन-कौन से बेस्ट कोर्सेज हैं, बेस्ट वेबसाइट हैं, और कौन सी बेस्ट बुक्स हैं जिनके जरिए आप AI को एडवांस्ड तरीके से सीख सकते हैं!

Artificial intelligence course kya hota hai?

Ai कोर्स जिसमे Artificial intelligence के बारे मैं बताया जाता है की Ai क्या है, इसे कैसे सीखें, तथा AI टूल्स & सॉफ्टवेयर कैसे बनाते हैं? मतलब आपको AI के बारे मैं विस्तार से बताया जाएगा की यह किस तरह से work करता है, इसे हम कैसे बना सकते है इतियादी।

आज के समय मैं कई सारे institute तथा colleges Ai कोर्स को प्रदान कर रहे है, वहा से आप AI कोर्स कर सकते हैं।

Ai कोर्स करने के २ ऑप्शन –

  • Coursera –

Coursera जिसमें currently AI के 1,000 से ज्यादा courses available हैं। Andrew Ng, जो एक British-American computer scientist हैं और deep learning के फाउंडर हैं, Coursera पर उनका AI For Everyone वाला कोर्स है, उस कोर्स को ज्वाइन करके आप AI को सीख सकते हैं।

  • YouTube –

YouTube एक शानदार प्लेटफॉर्म है जिसकी मदद से आप आसानी से AI को basic से सीख सकते हैं। Edureka एक ऐसी संस्था है जो फ्री में AI का कोर्स लेकर आई है, जिसे आप YouTube से पढ़ सकते हैं। AI तथा ML और deep learning के बारे में scratch से बताया गया है। यह कोर्स खासकर beginners के लिए तैयार किया गया है।

Best AI tools –

आज मैं आपको कुछ AI tools के बारे में बताऊंगा जो आपके जीवन में उपयोगी हो सकते हैं।

  • Chat GPT 

Chat GPT एक ऐसा tool या chatbot है जिसका उपयोग आज के युग में सबसे ज्यादा हो रहा है। इसका उपयोग आप कई तरीकों से कर सकते हैं; एक student के परिप्रेक्ष्य से आप इसके जरिए किसी भी प्रश्न को सुलझा सकते हैं, और एक business के तौर पर भी आप इसके जरिए अपने व्यापार के लिए नए विचार तथा अपने बिजनेस के लिए कंटेंट तैयार कर सकते हैं।

  • Jasper AI

Jasper AI एक ऐसा artificial intelligence tool है जिसका specific उपयोग content creation के लिए होता है। यह tool natural language processing (NLP) का उपयोग करता है और उसी आधार पर high-quality content generate करता है। इसका उपयोग आप quality content बनाने के लिए कर सकते हैं।

क्या AI स्टूडेंट्स के लिए फायदेमंद है?

अगर AI की बात करें तो आज के समय में AI स्टूडेंट्स के लिए काफी मददगार साबित हो रहा है। AI के जरिए एक स्टूडेंट अपनी लर्निंग और नॉलेज को फ्री में बढ़ा सकता है। कई तरीकों से AI स्टूडेंट्स के लिए फायदेमंद है –

  • Personal tutor 

AI के जरिए आप अपने specific क्लास और subject के लिए specific टीचर सेलेक्ट कर सकते हैं। अभी के समय में Chat GPT नामक AI chatbot स्टूडेंट्स के लिए काफी मददगार है; Chat GPT में आप अपने किसी भी सवाल को पूछ सकते हैं, और quick & easy response पा सकते हैं। इससे आप अपने मैथ के सवालों को पूछ सकते हैं, इससे आप किसी भी भाषा को शुरू से सीख सकते हैं।

  • 24/7 access

मान लीजिए कि अगर आपको आधी रात में किसी प्रश्न का कोई डाउट है तो आप उस समय अपने टीचर से नहीं मिल सकते, इस सीनारियो में आप AI की मदद ले सकते हैं, और उस डाउट को क्लियर कर सकते हैं। क्योंकि AI 24/7 सहायता के लिए मौजूद है।

  • Multilingual support –

AI जो एक Multilingual support प्रदान करता है। AI को आप किसी भी भाषा में पूछो, वह आपको उसी भाषा में उत्तर देगा। यह AI की क्षमता है, और इस फीचर का फायदा सभी स्टूडेंट्स उठा रहे हैं।

  • Skill Development –  

स्टूडेंट होने के नाते आप AI के जरिए कई सारे स्किल्स हासिल कर सकते हैं। चाहे फील्ड कोई भी हो, अगर आप उस फील्ड में स्किल विकसित कर रहे हैं, तो AI का उपयोग करके आप किसी भी फील्ड में व्यापक रेंज की स्किल्स को हासिल कर सकते हैं। चाहे वह communication skill हो, language skill, या अन्य personal development इत्यादि।

AI  businesses की कैसे सहायता करता है ( How AI Helps Businesses in hindi) –

अगर AI का उपयोग बिजनेस में किया जाए तो बहुत सारे ऐसे बिजनेस हैं जो आज के समय में AI का उपयोग कर रहे हैं अपने बिजनेस की ग्रोथ के लिए! AI के विभिन्न उपयोग हैं हर एक बिजनेस में जैसे –

  • Customer Support –

बिजनेस में सबसे कठिन काम यह होता है कि अपने कस्टमर को कैसे हैंडल करें? तो इस समस्या का समाधान अब AI है। अपने कस्टमर को AI Support की मदद से 24/7 सपोर्ट दें। इसके जरिए आप AI generated AUTO Reply सेट कर सकते हैं, AI generated Audio call कर सकते हैं, तथा हर किसी को Personalize message भेज सकते हैं।

  • Data Analysis –

आपको अपने बिजनेस के लिए जिस भी टाइप का डेटा चाहिए, वह AI आपको दे सकता है। तथा डेटा के सेगमेंटेशन में तो यह एक्सपर्ट है, वैसे भी आपको एक्सपर्ट चाहिए “I am right?! आपके बिजनेस की इनसाइट को यह फेच करता है और उसे विजुअल रूप में बनाकर आपको प्रोवाइड करता है।

  • Cybersecurity –

जिस तरह से बिजनेस में डिजिटल मार्केटिंग इन्वॉल्व हुआ है, तभी से ऑनलाइन हैकिंग काफी बढ़ गई है, क्योंकि आजकल हर एक बिजनेस का पूरा डेटा ऑनलाइन है, जिसके कारण Cybersecurity का होना जरूरी बन जाता है, और इस Cybersecurity की भूमिका को AI हैंडल कर सकता है। मार्केट में आजकल कई सारे AI Generated Firewall, VPN, चीजें आ गई हैं जो आपके बिजनेस के डाटा को सुरक्षित रखती हैं।

अगर आपको अपने बिज़नेस को ऑनलाइन secure रखना हियँ तो इसे जरूर पढ़े   – Cybersecurity Tips For Small Businessesr

 एआई के जरिए पैसे कैसे कमाएं (How to Make Money Through AI in hindi )  –

  • Content Creators: –

अगर आपको AI के जरिए पैसे कमाने हैं? तो उसमें आप content creators बन सकते हैं। आज के समय में डिजिटल दुनिया में सबसे बड़ी चीज कंटेंट है। इसी कंटेंट के बेस पर आज कई सारे डिजिटल क्रिएटर्स उभर रहे हैं। जैसे – Instagram content creator, example – a.i.channel_official यह एक ऐसा चैनल है, जो सिर्फ AI के द्वारा प्रोड्यूस कंटेंट को इंस्टाग्राम पर पब्लिश करता है, इसके पास 216K followers हैं, only AI कंटेंट के थ्रू। इस तरह आप भी AI Produced कंटेंट को सोशल मीडिया पर पब्लिश करके पैसे कमा सकते हैं।

  •   Developing AI Applications and Services –

AI के जरिए पैसा कमाने के तरीकों में AI generated Applications तथा AI generated Services शामिल हैं। इसमें आप AI generated Applications बनाकर उनके जरिए पैसा कमा सकते हैं, जैसे – Chat GPT bot, Chat GPT का प्रीमियम वर्जन $20/month है, और आज के समय में बहुत सारे लोग हैं जो इसका प्रीमियम लेते हैं। इस तरह आप विभिन्न AI एप्लिकेशंस को बनाकर subscription के बेस पर पैसा कमा सकते हैं।

इसी तरह AI Services आज के समय में एक काफी पॉपुलर तरीका है पैसा कमाने का! जिसमें Software as a Service (SaaS), Machine Learning as a Service (MLaaS) जैसी सर्विसेज आप दे सकते हैं, और पैसे कमा सकते हैं। अगर आंकड़ों की बात करें तो – 2022 में ग्लोबल SaaS बाजार की कीमत 167 बिलियन डॉलर थी और 2030 तक इसके 908.21 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है।

  • Gain AI Skills –

AI स्किल्स हासिल करके भी आप पैसे कमा सकते हैं। जिसमें कई स्किल्स शामिल हैं – Programming languages सीखकर आप पैसे कमा सकते हैं जैसे – Python, C++, Golang और Java इत्यादि। Machine learning and deep learning स्किल्स आज के समय में टॉप पर हैं, हर किसी को Machine learning and deep learning एक्सपर्ट की जरूरत है, इसके जरिए आप पैसे कमा सकते हैं। Natural language processing (NLP) सीखकर आप पैसे कमा सकते हैं, आज के समय में कई सारे ऑनलाइन टूल NLP के बेस पर बनते हैं, यहां से आप पैसे कमा सकते हैं।

आशा होगी की आप सभी अभी तक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बारे मैं विस्तार से जान गए हुंगे जैसे – artificial intelligence kya hota hai in hindi, यह कितने टाइप्स होता है? इसकी हिस्ट्री, इसके उपयोग इतियादी।

अगर किसी के भी मन मैं AI के प्रति कोई भी doubt हो तो आप हमें कमेंट सेक्शन मैं पूछ सकते है।

धन्यवाद!

Rate this article

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top