Email aur Gmail में क्या अंतर है: दोनों मैं प्रमुख अंतर?

Email aur  Gmail मैं क्या अंतर है,  यह एक सामान्य सा फैक्टर हैं।  पर कई लोगो के लिए यह एक सवाल बन चूका हैं, कई लोग नहीं समज  पाते  की इन दोनों मै  वास्तव मैं क्या अंतर हैं।  पर आज हम आपको इस आलेख मैं बताएंगे की Email aur  Gmail मैं क्या अंतर है? और इससे जुड़े  सभी  सवालों को हल करने की  कोशिश करिंगे।  

LET’S START-   इस प्रश्न का पहला यह सवाल  यह बनता हैं, की क्या ईमेल और जीमेल एक ही है? इसका उत्तर हैं नहीं।  ईमेल और जीमेल यह दोनों एक नहीं हैं।  ईमेल जो एक इलेक्ट्रॉनिक मेल हैं, और जीमेल जो एक ईमेल की सर्विस प्रोवाइड करने वाली ESP हैं।

Email aur Gmail में क्या अंतर है:

email aur gmail मैं क्या अंतर है, email vs gmail

Email vs Gmail  जो दोनों ही एक दूसरे से काफी अलग हैं। ईमेल जो एक electronic mail के नाम से जाना जाता हैं।  यह एक एलेक्ट्रॉनिक मेल हैं।  जो ऑनलाइन माध्यम से पत्र भेजने के काम आता हैं।

और gmail एक ईमेल की सर्विस प्रोवाइड करने वाली ESP हैं।  gmail एक सबसे आसान तरीका बन चूका हैं mail भेजने का।  क्योकि ये  easy  operate tool ( app ) हैं।

कई लोग अभी तक ईमेल और जीमेल को एक ही  समझते हैं।   पर ये दोनों एक दूसरे से अलग हैं।  ESP कई सारे  भी हो सकते हैं,  जैसे –  gmail, yahho, outlook & hubsport  आदि । पर email एक ही है जो एलेक्ट्रॉनिक मेल कहलाता हैं।

इसे भी पढ़े – SMS vs MMS in hindi, दोनों में प्रमुख अंतर?

Email address क्या होता है?

Email जिसे हम इलेक्ट्रॉनिक mail भी कहते हैं। यह ऑनलाइन माध्यम से पत्र भेजने का तरीका हैं। जैसे कंप्यूटर से, फ़ोन से इत्यादि।   यह MMS ( multimedia messaging service ) मॉडल पर निर्धारित हैं। जिसके जरिये हम किसी भी चीज को ईमेल के जरिये भेज सकते हैं।

जैसे – वीडियो, फोटो, टेक्स्ट, ऑडियो, इत्यादि।   

प्रत्येक व्यक्ति का एक यूनिक ( अलग ) ईमेल id होता हैं। जो उसकी पहचान हैं, प्रत्येक व्यक्ति को अलग – अलग ईमेल id इसलिए दी जाती है, क्योकि उनकी id से उनकी पहचान हो सके ।

Email जिसकी खोज 1971 मैं Ray Tomlinson  के की थी।    जिसकी खोज  ARPANET system से की गई थी।  धीरे – धीरे यह develop  होते गया, और देखते ही देखते यह एक जरुरत बन चुकी हैं। 

ईमेल के उदाहरण – 

Gmail क्या हैं- 

gmail जो एक ESP ( email service provider ) हैं।  जिसका काम ईमेल की सर्विस  देना हैं।  अगर सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले ESP की बात की जाए तो उसमे gmail टॉप पर हैं।  gmail जो एक फ्री सर्विस प्रोवाइडर हैं इसलिए इसका इस्तेमाल सबसे ज्यादा  होता हैं।

GMAIL जो 1 april 2004 को  गूगल के द्वारा  लांच किया गया  था।   लेकिन काफी समय पहले  से gmail पर काम किया जा रहा था, पर 2004 मैं इसे जनता मैं publish किया गया। gmail  एक mms ( multimedia messaging service )   ) है।  जिसके जरिये हम बढ़ी आसानी से ईमेल को सेंड कर सकते हैं।  जीमेल मैं हमे कई  सारे फीचर मिलते हैं। जैसे – video, photo, file, form, newsletter.  & audio  etc.

gmail जो एक AI ( artificial intelligence ) सिस्टम पर काम करता हैं।  यह हमें  कम्पोजिंग मैं काफी हेल्प करता हैं। जैसे – जैसे आप ईमेल पर टाइपिंग करते हो, तो AI आपके टाइपिंग हैबिट को जान लेता हैं।  और जब आप लिखना शुरू करते हैं, तब ये आपको नए वर्ड को suggest करता हैं।

ESP ( ईमेल सर्विस प्रोवाइडर ) क्या होते है- 

ESP जिसका फुल फॉर्म email service provider हैं।  esp जो ईमेल की सर्विस प्रोवाइड करते हैं।  यह कई प्रकार के होते हैं।  ESP जो पेड या अनपेड भी हो सकते हैं।  इन ESP पर हम अपनी ईमेल id  खोलते हैं, इनकी जो पहचान होती हैं वह extension से होती हैं जो ईमेल के लास्ट मैं  लगा होता हैं। 

जैसे –  यह एक ईमेल हैं [email protected] इसमें जो ESP हैं वह gmail.com हैं।  इसी प्रकार से अलग – अलग प्रकार की ESP होते हैं।  

BEST ESP प्रोवाइडर की लिस्ट – 

   History of email in Hindi- ( ईमेल का इतिहास ) –

Email का इतिहास –  ईमेल जो एक electronic mail हैं। जिसका इस्तेमाल digital massage भेजने के लिए किया जाता हैं । अगर email की  खोज की बात की जाए तो इसकी खोज 1978 में वीए शिवा अय्यदुरई ने की । वीए शिवा अय्यदुरई जो एक भारतीय जमी पर जन्मे थे। इनका जन्म 2  December  1963 मैं Mumbai में एक तमिल परिवार में हुआ । 

करीब 7 साल की उम्र में वो अपने माता पिता के साथ अमेरिका चले गए, और उन्होंने 14 साल की उम्र में ईमेल की खोज की । 

उन्होंने 1978 में एक सॉफ्टवेयर तैयार किया और उसी सॉफ्टवेयर को ईमेल के नाम से जाना जाता हैं । जब इन्होंने इस ईमेल को बनाया तो उसमें इनबॉक्स, आउटबॉक्स, फोल्डर, अटैचमेंट , इतियादी सामिल थे । 30 अगस्त 1982 को अमेरिकी सरकार ने वीए शिवा अय्यदुरई को ईमेल का संस्थापक घोषित किया । 

तथा धीरे- धीरे यह ईमेल डेवलप होता रहा और आज के   समय  मै ईमेल  एक जरुरत  बनी चुकी हैं।  अभी ईमेल का आविष्कार हुए करीब 44 साल हो गए हैं । इन 44 सालो में ईमेल मैं कई चीजों की वृद्धि हुई हैं । और आज के समय मैं  ईमेल के द्वारा मार्केटिंग भी हो रही हैं ।  

बिजनेस ईमेल ( domain email )  क्या हैं –

बिजनेस ईमेल जिसे हम डोमेन ईमेल के नाम से भी जानते हैं । अधिकतम डोमेन ईमेल का उपयोग बिजनेस में किया जाता हैं । क्योंकि बिजनेस ईमेल एक आधिकारिक ईमेल होती हैं । जिसमें हमारा पूरा अधिकार होता हैं। बिजनेस ईमेल जिसके लिए हमें हर महीने कुछ pay करना पड़ता हैं । ये emails हमें कभी भी फ्री में नही  मिलती। 

बिजनेस ईमेल का उपयोग लोग अपने ब्रांड के लिए करते हैं । अपने ब्रांड की अलग पहचान बनाने  के लिए इसका इस्तेमाल होता हैं । क्योंकि ये ईमेल नार्मल ईमेल से अलग होते हैं ।

बिजनेस ईमेल के example –

4.5/5 - (2 votes)

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top