Mobile marketing क्या है: इसे रणनीति के साथ कैसे करें?

मोबाइल मार्केटिंग जो एक डिजिटल मार्केटिंग का हिस्सा हैं। इस मार्केटिंग को हम खासकर mobiles के लिए करते हैं। आज हम आपको इस आर्टिकल मैं बताएंगे की Mobile marketing क्या हैं, यह कैसे काम करती हैं, इसके टाइप्स और स्ट्रेटेजी इतियादी।

जैसे – जैसे मोबाइल्स का उपयोग बढ़ता जा रहा हैं, वैसे – वैसे लोग मोबाइल मार्केटिंग के बारे मैं जानना चाहते हैं तथा मोबाइल मार्केटिंग की तरफ बढ़ रहे हैं। आप सभी लोगो को पता होगा की आजकल mobiles का उपयोग कितना बढ़ चूका हैं। अगर आंकड़ों की बात की जाए तो datareportal के अनुसार अक्टूबर 2022 तक पूरी दुनिया मैं 5 .07 billion इंटरनेट यूजर हैं जिनमें से 5.48 billion मोबाइल यूजर हैं।

तो आपको इन आंकड़ों से पता चल सकते हैं की मोबाइल का उपयोग पूरी दुनिया मैं कितना किया जा रहा। अगर mobiles का उपयोग इतना ज्यादा किया जा रहा हैं तो इंटरनेट पर होने वाले अधिकतम काम भी मोबाइल के जरिये किये जाते हुंगे। इसी कारण से ही डिजिटल मार्केटिंग की दुनिया मैं मोबाइल मार्केटिंग का जन्म हुआ।

तो जानते हैं की – Mobile marketing क्या है?

Mobile marketing क्या है ( what is mobile marketing in Hindi ) –

mobile marketing क्या हैं, इसे कैसे करें?

 

मोबाइल मार्केटिंग जो एक विशिष्ट तौर पर की जाने वाली मार्केटिंग हैं। जो खासकर mobiles और tablets के लिए की जाती हैं। इस मार्केटिंग मैं हम अपने content तथा templates को मोबाइल फ्रैंडली बनाते हैं, जिससे की लोगो को हमारे सर्विस के बारे मैं जानने मैं कोई दिक्कत न हो।

“अगर साधरण भासा मैं बताए तो- जो भी आपको अपने mobiles पर मार्केटिंग दिखती हैं जैसे – ads, promotion message, video ads, promotion email, ये सभी प्रकार के प्रमोशन मोबाइल मार्केटिंग के अंतर्गत आते हैं। और इसे ही मोबाइल मार्केटिंग कहते हैं। ”

मोबाइल मार्केटिंग जो डिजिटल मार्केटिंग की दुनिया मैं सबसे अलग तथा effective मार्केटिंग हैं। अगर देखा जाये तो ऑनलाइन शॉपिंग अधिकतम मोबाइल के जरिये की जाती हैं, जिस कारण मोबाइल मार्केटिंग करना जरुरी हो जाता हैं।

इसे भी पढ़े – Digital marketing क्या है: और यह कैसे काम करती है?

Mobile marketing कैसे काम करती है-

अब हम आपको बताएंगे की मोबाइल मार्केटिंग हमारे मार्केटिंग मैं किस तरह से भूमिका निभा रही है-

उदाहरण के लिए मान लीजिये की – आपने मोबाइल मार्केटिंग का एक कैंपेन ( रणनीति ) शुरू किया, जिसमें आपके मोबाइल मार्केटिंग करने के लिए email को चुना। क्योकि मोबाइल पर ईमेल के जरिये की जाने वाली मार्केटिंग हमेसा से ही फायदेमंद रही हैं।

आपको एक customer की email id मिली। यह कस्टमर डिजिटल मार्केटिंग मैं इंटरेस्ट रखता है, तथा उसे सीखना चाहता हैं। आप डिजिटल मार्केटिंग की सर्विस प्रोवाइड करने वाली एजेंसी हैं। फलस्वरूप हम इस आदमी को अपने डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स प्रोवाइड कर सकते हैं। हमने एक email automation को तैयार किया, तथा उस आदमी को भेजना शुरू किया। एक दिन उसने उस ईमेल को ध्यान से पड़ा तथा हमरी सर्विस के बारे मैं जाना फिर उसने हमसे एक डिजिटल मार्केटिंग का एक कोर्स ख़रीदा।

तो जो डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स बिका थ्रू मोबाइल ,मार्केटिंग। इस प्रकार ही अलग अलग तरीको से मोबाइल पर मार्केटिंग की जाती हैं।

इसे भी पढ़े- E-mail marketing क्या है, इसे कैसे करते हैं?

मोबाइल मार्केटिंग रणनीति क्या है-

मोबाइल मार्केटिंग जो एक specific स्ट्रेटेजी based पर की जाने वाली मार्केटिंग हैं। कई लोग इसे स्ट्रेटेजी बेस्ड मार्केटिंग भी कहते हैं। क्योकि इस मार्केटिंग की स्ट्रेटेजी सिर्फ mobile phone और टेबलेट के लिए की जाती हैं।

तो आपको बता दे की मोबाइल मार्केटिंग स्ट्रेटेजी एक प्लान हैं। जिस प्लान से तहत हम अलग अलग तरीको से मोबाइल पर मार्केटिंग करते हैं। यही मोबाइल मार्केटिंग स्ट्रेटेजी हैं।

Mobile marketing स्ट्रेटेजी के टाइप्स –

मोबाइल मार्केटिंग मैं अगर कोई चीज सबसे महत्पूर्ण हैं तो वह हैं उसके टाइप्स। ये टाइप्स ही मोबाइल मार्केटिंग स्ट्रेटेजी के टाइप्स होते हैं। जिसमें हम अगर अलग तरीको ( टाइप्स ) से मोबाइल पर मार्केटिंग करते हैं। ये कई प्रकार से होते हैं जिनकी सूचि इस प्रकार हैं –

types of mobile marketing- 
mobile app-based, local area-based, social media-based, SMS/MMS-based, E-mail-based, QR based.
  • mobile App based marketing
  • Local area-based marketing ( GEO targeting )
  • Email based marketing
  • social media marketing based
  • SMS/MMS-based marketing
  • mobile-friendly website-based marketing
  • QR code-based marketing

Mobile App based marketing-

आजकल जिस प्रकार से mobile app का उपयोग बढ़ रहा हैं। जिसके कारण मोबाइल app पर मार्केटिंग करना जरुरी बन चूका हैं। आज-कल हर कोई मोबाइल पर apps का उपयोग करता हैं। क्योकि app एक ऐसा माध्यम हैं जिससे आप चीजों को बड़ी आसानी से समझ तथा नेविगेट कर सकते हैं।

इसलिए आजकल हर कोई अपने बिज़नेस का मोबाइल एप्प बना रहा है जिससे लोगो को ज्यादा भटकना ना पड़े।

इसमें आप अपना खुद एक मोबाइल एप्प बनाकर उसके जरिये सर्विस दे सकते हैं। अनयथा आप इन मोबाइल एप्प के जरिये अपने प्रोडक्ट तथा सर्विस के बारे मैं एड्स चलाकर प्रमोशन कर सकते हैं।

Local area-based marketing ( GEO targeting ) –

Local area-based marketing मैं हमें अपने लोकल एरिया मैं लोकेशन के बेस पर मार्केटिंग करनी होती हैं। डिजिटल मार्केटिंग मैं GEO ( लोकेशन ) बेस्ड मार्केटिंग काफी हद तक successful रही हैं।

क्योकि जब भी हम कोई सामान आर्डर करते हैं जैसे -आपको अभी एक पिज़्ज़ा आर्डर करना हैं तो आप क्या करंगे – आप गूगल पर जाएंगे और सर्च करंगे – near pizza shop . तो इस query मैं आपको जो रिजल्ट्स मिलेंगे। वो Local area( location) based मार्केटिंग होगी। और यह मार्केटिंग अभिकतम मोबाइल फ़ोन मैं ही की जाती हैं। और यह काफी हद तक सफल रहती हैं।

Email based marketing-

ईमेल मार्केटिंग करना और mobiles के लिए ईमेल मार्केटिंग करना ये दोनों एक दूसरे से अलग हैं। जब हम ईमेल मार्केटिंग को mobiles के लिए करते हैं तो उस समय हमें सबसे बड़ा ध्यान बैनर का रखना होता हैं क्योकि बैनर को हमें मोबाइल फ्रेंडली बनाना पड़ता हैं। जिससे वह ईमेल मोबाइल पर अच्छी तरह से डिस्प्ले हो सके। तथा नेविगेट हो सके।

मोबाइल पर ईमेल बेस्ड मार्केटिंग करने का सबसे बड़ा रीज़न मोबाइल एप्प पर ईमेल का open rate हैं। मोबाइल पर ईमेल का ओपन रेट सबसे ज्यादा रखता हैं जिसके कारण कन्वर्शन से चान्सेस बड़ जाते हैं।

social media based marketing-

social media पर marketing जिसे हम खासकर मोबाइल मार्केटिंग के जरिये करते हैं। क्योकि सोशल मीडिया का उपयोग लोग ज्यादातर मोबाइल एप्प पर करते हैं। आजकल जो भी आदमी इंटरनेट का उपयोग करता हैं| वह दिन के 1 -2 घंटे social media पर जरूर बीताता हैं यही कारण हैं की marketer अपनी marketing को सोशल मीडिया पर लाना चाहते हैं। 

सोशल मीडिया के टोटल उपयोग मैं से 80 -90% तक यूजर मोबाइल फ़ोन के जरिये सोशल मीडिया चलाते हैं। इसी कारण ही मार्केटर मोबाइल मार्केटिंग के जरिये सोशल मीडिया पर मार्केटिंग कर रहे हैं।

 

SMS/MMS-based marketing-

SMS & MMS– based मार्केटिंग यह एक specific मार्केटिंग। इसमें हम डायरेक्ट यूजर के फ़ोन पे मार्केटिंग करते हैं। इस मार्केटिंग मैं हम जो भी सर्विस तथा प्रमोशन करते हैं वह यूजर के मैसेज बॉक्स मैं जाता हैं। जिससे हमारे conversion के चान्सेस बड़ जाते हैं। तथा यह मार्केटिंग काफी हद तक इफेक्टिव रहती हैं।

mobile-friendly website-based marketing –

इस मार्केटिंग मैं हम मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट बनाते हैं, जिससे लोगो को मोबाइल से हमारे वेबसाइट को चलाने मैं कोई दिक्कत न हो। इस तकनीक मैं हम मोबाइल के हिसाब से वेबसाइट का डिज़ाइन तैयार करते हैं।

mobile friendly website बेस्ड मार्केटिंग अधिकतर e -commerce वाली वेबसाइट पर होती हैं। क्योकि ज्यादतर ऑनलाइन शॉपिंग मोबाइल के जरिये होती हैं जिसके लिए वेबसाइट का मोबाइल फ्रेंडली होनी जरुरी हैं।

QR code-based marketing-

QR कोड बेस्ड मार्केटिंग जो एक यूनिक तरीका हैं। इस मार्केटिंग मैं हम अपने वेबसाइट तथा एप्प का एड्रेस एक QR code मैं लगाते हैं। जिससे जब भी कोई उस QR को स्कैन करेगा तो वो डायरेक्ट हमारे वेबसाइट तथा एप्प पर पहुंचेगा।

2023 मैं मोबाइल मार्केटिंग क्यों इम्पोर्टेन्ट हैं-

मोबाइल मार्केटिंग जो एक ऐसी मार्केटिंग हैं जो दिन प्रति दिन वृद्धि कर रही हैं। जिस प्रकार से मोबाइल का उपयोग बड़ा है, जिसके कारण मोबाइल मार्केटिंग की अहमियत बड़ी हैं। आज हम आपको कुछ आकड़ो के साथ बताएंगे की 2023 मैं मोबाइल मार्केटिंग क्यों जरुरी हैं-

  • मोबाइल मार्केटिंग जो बहुत ज्यादा personalized मार्केटिंग हैं।
  • इंटरनेट के टोटल यूजर मैं से 80 % यूजर मोबाइल फ़ोन के जरिये इंटरनेट चलाते हैं।
  • mobiles app का उपयोग दिन प्रति दिन बढ़ रहा हैं। लगभग हर किसी के फ़ोन मैं 10 – 12 app है।
  • डिजिटल मार्केटिंग मैं लगभग 50 – 70% तक मार्केटिंग मोबाइल मार्केटिंग के जरिये होती हैं
  • मोबाइल पर searches की सख्या दिन प्रति दिन बड़ रही हैं। अगर तुलना की जाये तो लैपटॉप तथा tablate से।
  • मोबाइल के जरिये ही लोग अधिकतम चीजों को परचेस कर रहे हैं।
  • मोबाइल के जरिये सोशल मीडिया ब्राउज़िंग काफी ज्यादा हैं।

Mobile marketing के फायदे –

  • more personalized marketing
  • high reach
  • easy to awareness
  • easy to navigate
  • high conversion rate
  • high open rate
  • easy to communicate

 

इसे भी पढ़े – एफिलिएट मार्केटिंग क्या हैं, इससे पैसे कैसे कमाए?

Mobile marketing से रिलेटेड इम्पोर्टेन्ट फैक्टर –

मोबाइल मार्केटिंग से रिलेटेड ये वो concept हैं जिन्हें हमें मोबाइल मार्केटिंग करते समय ध्यान रखना हैं-

  • अपने वेबसाइट को मोबाइल फ्रैंडली बनाए , जिससे लोगो को आपकी वेबसाइट चलाने मैं कोई दिक्कत न हो।
  • मोबाइल फ्रेंडली कंटेंट क्रिएट करें।
  • मोबाइल मार्केटिंग मैं ईमेल मार्केटिंग का उपयोग जरूर करें।
  • अपने बिज़नेस को बिज़नेस प्रोफाइल प्लेटफॉर्म्स पर सबमिट करें। जैसे –  Google My Business, Yelp for Business, Bing Places for Business इतियादी।
  • prospective users को customer’s मैं बदलना सीखे।
  • अपने बिज़नेस के लिए मोबाइल app बनाए।
  • सोशल मीडिया presence बनाये। हर एक सोशल मीडिया प्लेटफार्म के साथ जुड़े।

 

निष्कर्ष-

आज हमने इस आर्टिकल मैं मोबाइल मार्केटिंग से रिलेटेड हर एक डाउट को क्लियर करने की कोशिश की जिनकी सूचि इस प्रकार हैं – Mobile marketing क्या है, यह कैसे काम करती हैं, mobile मार्केटिंग स्ट्रेटेजी क्या हैं, इसके स्ट्रेटेजी के टाइप्स कितने हैं, यह क्यों इम्पोर्टेन्ट हैं, इसके फायदे क्या हैं, तथा इससे रिलेटेड key concept.

अगर इस आर्टिकल से रिलेटेड कोई टॉपिक रह गया हैं तो आप हमें कमेंट सेक्शन मैं पूछ सकते हैं, तथा सोशल मीडिया के जरिये जानकारी लेने के लिए आप हमें सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते हैं। हमारे ब्लॉग के लेटेस्ट अपडेट के लिए आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

 

 

5/5 - (1 vote)

sawan singh

मैं सावन सिंह एक professional डिजिटल मार्केटर हु। मैं डिजिटल मार्केटिंग और टेक्नोलॉजी से रिलेटेड जानकारी को प्रदान कराता हु। मुझे डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड मैं करीब 1-2 साल का अनुभव हैं, और मैं इस अनुभव के साथ आपको जानकारी देता हु। Thank you.

प्रातिक्रिया दे