SMS vs MMS in hindi, दोनों में प्रमुख अंतर?

SMS vs MMS यह एक ऐसा टॉपिक हैं जिसमें अधिकतम लोगो को संदेह होता हैं की SMS और MMS यह दोनों सामान हैं, लेकिन यह दोनों एक दूसरे से भिन्न्न हैं, इसलिए आज हम आपको इस आर्टिकल मैं SMS vs MMS in hindi, के बारे मैं विस्तार से बताएंगे।

SMS और MMS मैं क्या अंतर है-

sms vs mms in Hindi, short messaging service vs multimedia messaging service

SMS जो एक short messaging service होती हैं, sms meaning in hindi की बात की जाए तो इसमें हम text को मैसेज के तोर पर भेज सकते हैं। एमएमएस की सर्विस जो कई सालो से चलती आ रही हैं, एसएमएस का अधिकतम इस्तेमाल फीचर फ़ोन ( keypad phone ) मैं किया जाता हैं, क्योकि SMS के जरिये हम सिर्फ text को ही मैसेज के तोर पर भेज सकते हैं।

MMS जो एक multimedia messaging service होती हैं, MMS meaning in hindi की बात करे तो MMS के जरिये हम messaging के तोर पर कई चीजे भेज सकते हैं जैसे – text, image, file, audio, video, इतियादी। जब से स्मार्टफोन का दौर चला हैं तब से MMS की सर्विस मैं काफी बढ़ोतरी हुई हैं, SMS के मुकाबले MMS मैं हमें ज्यादा फीचर मिलते हैं।

इसे भी पढ़े – E-MAIL और G-MAIL मैं क्या अंतर हैं?

SMS क्या होता हैं (SMS ka full form)-

SMS जिसका फुल फॉर्म short messaging service हैं, जिसे हिंदी मैं हम संक्षिप्त सन्देश सेवा कहते हैं। SMS की पहली अवधारणा ( विचार ) 1984 मैं फ्रीडेलम हिलेब्रांड और बर्नार्ड गिलेबर्ट ने राखी थी। इन दोनों ने ही short messaging service के बारे मैं पहला विचार रखा।

1984 से करीब  8 साल बाद 3 December 1992 को नील पापवर्थ ने पहला SMS भेजा। SMS भेजते ही यह दुनिया के पहले ऐसे व्यक्ति बन गए जिन्होंने SMS messaging को पहली बार भेजा।

क्या आपको पता हैं की दुनिया का पहला SMS क्या था? दुनिया का पहला SMS text “Merry Christmas.” था। हां ये सच हैं की दुनिया का पहला SMS जिसे नील पापवर्थ के द्वारा भेजा गया था वह मेर्री क्रिसमस था, जिसमें क्रिसमस की शुभकामनाओं के साथ SMS की शरुवात की गई।

short messaging service जिसमें text की लिमिट 160 CHARACTER हैं। SMS के जरिये जब आप कोई भी message भेजते हैं तो उसमें characters लिमिट 160 तक होती हैं, 160 करैक्टर के ज्यादा text आप SMS के जरिये नहीं भेज सकते।

SMS मार्केटिंग के आंकड़े –

  • 66% उपभोक्ता mobile marketing को पसंद करते हैं, तथा इसे संचार का दूसरा विकल्प मानते हैं।
  • ऑनलाइन मार्केटिंग मैं लगभग  40 % of  businesses  SMS ,मार्केटिंग का उपयोग करते हैं। 
  • SMS मार्केटिंग मैं क्लिक थ्रू रेट लगभग 20 से 35% के बीच रहता हैं। source – simple textin
  • SMS मार्केटिंग का response rate लगभग 45 % हैं। 
  • 40% उपभोक्‍ता text message के भेजे जाने के बाद  5 मिनट के भीतर उसे open करते हैं। 

MMS क्या होता हैं(MMS ka full form)-

MMS जिसका फुल फॉर्म multimedia messaging service होता हैं, जिसे हिंदी मैं हम मल्टीमीडिया संदेश सेवा कहते हैं। MMS जिसका इस्तेमाल आजकल कई प्रकार से messaging सर्विस मैं किया जाने लगा हैं, जैसे – whatsapp message, Facebook message,  We-chat, i Message, इतियादी।

MMS messaging सर्विस मैं characters limit की बात की जाए तो हैं – 1600 characters. MMS messaging के जरिये आप 1600 characters तक भेज सकते हैं, तथा 10 इमेज तक आप एक बार मैं send कर सकते हैं।

MMS सर्विस मैं जब आप कोई भी फाइल send करते हैं तो उसमें जो file का साइज होता हैं वह वह 5 MB के अंतर्गत होना चाहिए।

MMS की पहली अवधारणा 2004 मैं सामने आई। तब से इसका प्रचलन बढ़ता ही जा रहा हैं।

इसे भी पढ़े – micro-blogging vs blogging मैं क्या अंतर हैं?

SMS vs MMS के सम्बंधित FAQs question –

SMS का full form?

SMS जिसका फुल फॉर्म short messaging service होता हैं।

MMS का full form?

MMS जिसका फुल फॉर्म multi-messaging messaging service होता हैं।

SMS का अविष्कार कब हुआ था?

SMS के बारे मैं पहला विचार 1984 मैं फ्रीडेलम हिलेब्रांड और बर्नार्ड गिलेबर्ट ने राखी थी। इस प्रकार इसका अविष्कार 1984  मैं हुआ। 

दुनिया का पहला SMS क्या था?

 दुनिया  का पहला SMS  text  “Merry Christmas” था।

दुनिया का पहला text message कब भेजा गया?

दुनिया का पहला text message  3 December 1992 को नील पापवर्थ द्वारा भेजा गया।

SMS क्या काम करता हैं?

SMS के जरिये हम लोगो के साथ communicate करते हैं।  अगर सीधे शब्दों मैं  बताए तो SMS एक संचार माध्यम हैं, जिसके जरिये हम text मैसेज के रूप मैं लोगो के साथ communicate करते हैं। 

MMS की करैक्टर लिमिट कितनी होती हैं?

MMS की characters limit 1600 characters. हैं।

SMS की करैक्टर लिमिट कितनी होती हैं?

Sort messaging service की Characters लिमिट  160 Characters हैं।

निष्कर्ष –

आज हमने आपको इस आर्टिकल मैं SMS और MMS के बीच के अंतर को समझाने की कोशिस की जिसमें हमने इन topics को क्लियर किया -SMS vs MMS in hindi, SMS का मतलब क्या होता है? MMS का मतलब क्या होता है? SMS मार्केटिंग के आकड़े, इतियादी।

आसा होगी की आप सभी को इस आर्टिकल से कुछ न कुछ सिखने को मिला हो, अगर आपको इस आर्टिकल से रेलस्टेड कुछ भी confusion हो तो आप हमें कमेंट सेक्शन मैं पूछ सकते हैं, हम आपके सवालो को हल करने की संभवत कोशिश करिंगे।

डिजिटल मार्केटिंग & इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी से रेलस्टेड जानकारी के लिए आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब कर सकते हैं, तथा सोशल मीडिया के जरिये भी आप हमसे जुड़कर जानकारी ले सकते हैं।

Rate this article

sawan singh

मैं सावन सिंह एक professional डिजिटल मार्केटर हु। मैं डिजिटल मार्केटिंग और टेक्नोलॉजी से रिलेटेड जानकारी को प्रदान कराता हु। मुझे डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड मैं करीब 1-2 साल का अनुभव हैं, और मैं इस अनुभव के साथ आपको जानकारी देता हु। Thank you.

प्रातिक्रिया दे